Sunday , August 25 2019
Breaking News
Home / Tag Archives: पिपलोदा से प्रफुल जैन की रिपोर्ट

Tag Archives: पिपलोदा से प्रफुल जैन की रिपोर्ट

सम्पूर्ण विश्व मे प्रभावशाली है भावना – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा. ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व मे यदि देखा जाये तो सब से अधिक प्रभावशाली यदि कोई है तो वह भावना ही है ओर उसी के आधार पर ही व्यक्ति समुचित …

Read More »

कांग्रेस प्रदेश सचिव कालूखेड़ा ने लिया आशीर्वाद

श्रेष्ठ परमेष्ठी भगवंतों का ध्यान रामबाण रसायन – गच्छाधिपति श्री पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा. ने कहा कि सदविचारों को प्राप्त करने के लिए परम् श्रेष्ठ परमेष्ठी भगवंतों का ध्यान रामबाण रसायन है सदभावो की …

Read More »

तपस्वियों का हुआ पारणा

पिपलोदा / ( प्रफुल जैन ) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान चल रही तप आराधना में तपस्वियों का पारणा हुआ । जिसमे महामृत्युंजय तप तपस्वी हंसा बाबेल व आठ उपवास तपस्वी गरिमा नांदेचा ने पूज्य गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा. व साधु साध्वी भगवंत की निश्रा में अपने निवास …

Read More »

मानव को महामानव बनने की राह दिखाता है नवकार – गच्छाधिपति श्री

  पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा की नवकार का जाप करने वाला, सुनने वाला व सुनाने वाला कर्म खपाता है नवकार कर्म खपाने की सीधी सरल प्रक्रिया है नवकार का जाप आस्था व श्रद्धा …

Read More »

चौदह पूर्वो का सार है नवकार – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा  / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा कि अचिन्त्य चिन्तामणि नवकार मंत्रो का शिरताज है इस शाश्वत मंत्र में चौदह पूर्वो का सार समाहित है इसकी महिमा को शब्दों की परिधी में बांधना असंभव है नवकार …

Read More »

भाव, प्रभाव व स्वभाव से परिपूर्ण है नवकार – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा कि भाव प्रभाव एवं स्वभाव से परिपूर्ण है यह नवकार ।अरिहंत के ध्यान से मान समाप्त होता है मान समाप्ति के बाद ज्ञान प्राप्त किया जा सकता है मान …

Read More »

भार नही माल रहे वह भी सच्चा ओर मूल्यवान – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनीय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति श्री नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा की जाना है तो जाओ, लेकिन कुछ लेकर के जाओ, जिससे मानव भव में आना सार्थक हो सके लेकिन इतना ध्यान रखना चाहिए कि साथ मे भार नहीं …

Read More »

जीवन का धन स्थाई व जीवन मे धन अस्थाई- गच्छाधिपति श्री

  पिपलौदा / (प्रफुल्ल जैन) – पावनीय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति श्री नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा कि जीवन मे धन चाहते हो या जीवन का धन चाहते हो मानव के सामने ये दो प्रश्न है उनका समाधान भी मानव को ही करना है मात्र …

Read More »

नम्रता मानव को करती है आनंदित – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनीय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति श्री नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने कहा कि यदि मानव अपने आप को बड़ा समझ रहा है तो वह बहुत बड़ी भूल कर रहा है जब जब मानव को अपने मे बड़ाई का रोग लग …

Read More »

मानव तृष्णा छोड़े व आवश्यक प्राप्ति में संतोष धारण करे – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनीय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर गच्छाधिपति श्री नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.ने इंसान ओर हैवान का उदाहरण देते हुए बताया कि पेट भरने का हक सभी को है व पेटी भरने का हक किसी को नही। जब व्यक्ति के हृदय में …

Read More »