Thursday , February 27 2020
Breaking News
Home / चातुर्मास / संयुक्त राष्ट्रीय अधिवेशन का हुआ भव्य शुभारंभ

संयुक्त राष्ट्रीय अधिवेशन का हुआ भव्य शुभारंभ

 

प्रभातफेरी में दिया बेटी बचाने का संदेश,

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री धरु ने किया ध्वजारोहण

में परीषद में हु व परीषद मुझमे है – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा (प्रफुल जैन)- गच्छाधिपति नित्यसेन सूरीश्वर जी म.सा.की पावन निश्रा में नगर के श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर नवयुवक,महिला व तरुण परीषद का संयुक्त राष्ट्रीय अधिवेशन का शुभारंभ हीरक जयंती वर्ष के रूप में हुआ।
श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम प्रचार सचिव प्रफुल जैन ने बताया कि सर्वप्रथम प्रातः8.30 बजे प्रभातफेरी निकली जिसमे बेटी बचाओ,पर्यावरण व पानी बचाओ की अपील की गई। प्रभातफेरी मुख्य मार्ग से होते हुए दादावाड़ी सभा स्थल पहुची जहाँ नवयुवक परीषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेशभाई धरु द्वारा ध्वजारोहण किया। त्रिस्तुतिक जैन श्री संघ महामंत्री सुरेंद्र लोढ़ा,श्री संघ के सह मंत्री जे.के.संघवी,वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओसी जैन,स्थानीय श्री संघ अध्यक्ष बाबूलाल धींग ने शंखेश्वर पार्श्वनाथ भगवान व दादा गुरुदेव व पूण्य सम्राट के चित्र पर मालार्पण व दीपप्रज्वलन कर संयुक्त अधिवेशन का भव्य शुभारंभ किया। स्वागत भाषण चातुर्मास प्रभारी राकेश जैन ने दिया व अतिथियों का स्वागत चातुर्मास समिति अध्यक्ष राकेश जैन इंदौर,वाटिका अध्यक्ष शेलेन्द्र कटारिया,नवयुवक परीषद अध्यक्ष अशोक बोहरा,लाभार्थी राजेश जैन व मुकेश रॉयल द्वारा किया गया। नवयुवक परीषद राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री धरु,महिला परीषद अध्यक्ष अंगुरबाला सेठिया,तरुण परीषद अध्यक्ष करण मोरखिया ने अपनी-अपनी परीषद की उपलब्धियों व किये गए कार्यो के बारे में बताया। नवयुवक परीषद राष्ट्रीय पदाधिकारियो द्वारा पिपलोदा श्री संघ व परीषद परिवार को ऐतिहासिक चातुर्मास के सुंदरतम आयोजन हेतु अभिन्नदन पत्र भेट कर सम्मानित किया साथ ही मीडिया ग्रुप के ब्रजेश बोहरा,पैलेस मोरखिया व प्रफुल जैन द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री धरु का धार्मिक क्षेत्र में किये गए उत्कृष्ट कार्यो हेतु स्मृति चिन्ह भेंट कर बहुमान किया। इस दौरान गच्छाधिपति श्री ने कहा कि में परीषद में हु व परीषद मुझमे है पूण्य सम्राट ने जो स्वपन संजोये थे उन स्वपनों को हमे मिलकर पूरा करना होगा इसलिए परीषद के उपदेश्यों की पूर्ति हेतु निरंतर कार्य करते रहे क्योंकि परीषद हमे अनुशासन का पाठ सिखाती है। दृण संकल्पित होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर कर्तव्यवान बने व परीषद को नित नए आयाम तक पहुचाकर गुरुदेव के स्वपन को साकार करे।
मुनीराज विद्वदरत्न विजय जी म.सा.ने कहा कि परीषद के संकल्पो को पूरा करने के लिए पूण्य सम्राट के वफादार सिपाही के रूप में परीषद परिवार कार्य कर रहा है साथ ही बताया कि यदि किसी व्यक्ति को उचाई तक पहुचाना है तो टांग खीचना बंदकर हाथ खीचना शुरू करना होगा तभी अच्छे व सच्चे लोग आगे आएंगे।मुनिराज डॉ सिद्धरत्न विजय जी,मुनिराज प्रशमसेन विजय जी,मुनिराज तारकरत्न विजय जी,मुनिराज निर्भयरत्न विजय जी म.सा.साध्वी भाग्यकला श्रीजी म.सा.आदि पाठ पर विराजित थे।
दोपहर में तीनो इकाइयों का अलग-अलग अधिवेशन हुआ जिसमें संघ के परार्मशदाता रतलाम विधायक चेतन्य कश्यप ने आतिथ्य प्रदान करते हुए तरुण व महिला परीषद को मार्गदर्शन प्रदान किया। अधिवेशन में श्रेष्ठ शाखाओं की उपलब्धिया व अंकेक्षण का प्रस्तुतिकरण दिया गया व सभी ने अपनी बात रखी। वार्षिक प्रतिवेदन के आधार पर महिला एवं तरुण परिषद की श्रेष्ठ शाखाओं को पुरष्कृत किया। इस अवसर पर नवयूवक परीषद महाराष्ट्र इकाई अध्यक्ष मोहनलाल ढालावत,दक्षिण भारत के अध्यक्ष बाबूलाल सेवाणी,म.प्र.उपाध्यक्ष मोहित तातेड़,महामंत्री सुधीर लोढा,राष्ट्रीय महिला परीषद महामंत्री पद्ममा सेठ,महिला परीषद प्रदेश अध्यक्ष पुष्पा भंडारी,तरुण परीषद राष्ट्रीय महामंत्री पवन कटारिया व राष्ट्रीय व प्रांतीय पदाधिकारिगण उपस्थित थे। संचालन राष्ट्रीय महामंत्री अशोक श्री श्रीमाल व प्रचार मंत्री शांतिलाल गोखरु ने किया।

नवीन राष्ट्रीय पदाधिकारीयो की हुई घोषणा – गच्छाधिपति श्री की निश्रा में नवयुवक परीषद राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश भाई धरु द्वारा अ.भा.श्री राजेन्द्र जैन महिला व तरुण परिषद के राष्ट्रीय पदाधिकारी की घोषणा की जिसमे राष्ट्रीय ,अध्यक्ष आशाबेन कटारिया झाबुआ,उपाध्यक्ष कौशल्या देवी वागरेचा मदुराई ,महामंत्री राखीबेन रांका इन्दौर,कोषाध्यक्ष प्रेमा बेन बैंगलोर,सह महामन्त्री आसिता बेन सूरत व तरूण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज देसाई मुम्बई,महामंत्री हर्ष कटारिया पिपलोदा,उपाध्यक्ष राहुल सकलेचा उज्जैन,द्विप दोसी सूरत, कोषाध्यक्ष सपन लोढा टांडा को मनोनीत किया व शपथ दिलवाई सभी नवीन पदाधिकारियो ने गच्छाधिपति श्री का आशीर्वाद लेकर परीषद के उपदेश्यों को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया व पूर्व पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया।

पुण्य सम्राट ग्रंथ का हुआ विमोचन – गच्छाधिपति श्री की निश्रा में पूण्य सम्राट के जीवन चरित्र पर वरिष्ठ साहित्यकार तथा पत्रकार सुरेन्द्र लोढा मंदसौर द्वारा लिखित ग्रंथ पुण्य सम्राट पुस्तक का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया। श्री लोढ़ा ने बताया कि पुस्तक में 350 प्रष्ठो का ग्रंथ है तथा इसमें पूज्य गुरुदेवश्री के जीवन पर 67 अध्याय एवं 15 परिशिष्ट है। ग्रंथ की भाषागत विशेषता यह है कि सभी 67 अध्यायो के शीर्षक ‘अ ‘ से प्रारंभ हुए है।

About Swastik Jain

Check Also

गच्छाधिपतिश्री व मुनि भगवंत ने किया विहार

नम आंखों से नगरवासियो ने दी विदाई पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – गच्छाधिपति युगनायक नित्यसेन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *