Monday , June 17 2019
Breaking News
Home / टीम मधुकर संदेश / गुजरात के पाटण नगर में चातुर्मास परिवर्तन का आयोजन होगा

गुजरात के पाटण नगर में चातुर्मास परिवर्तन का आयोजन होगा

गुजरात के पाटण नगर में चातुर्मास परिवर्तन का आयोजन होगा
मधुकर संदेश से मनीष कुमट (जैन) की रिपोर्ट
गुजरात के पाटण नगर में श्री राज राजेन्द्र जयन्तसेन सूरी ज्ञान मंदिर ( त्रिस्तुतिक उपाश्रय)  में अध्ययन हेतु चातुर्मास कर रहे विश्व पूज्य गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीश्वरजी म.सा के प्रशिष्य पुण्य सम्राट गुरूदेव श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वरजी म.सा के शिष्य रत्न एवं गच्छाधिपती श्रीमद् विजय नित्यसेन सूरीश्वरजी म.सा ओर आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय जयरत्न सूरीश्वरजी म.सा के आज्ञानुवर्ती मुनिराज श्री चारित्र रत्न विजय जी म.सा एवं मुनिराज श्री निपुण रत्न विजयजी म.सा आदि ठाणा 6 ओर साध्वी श्री तत्वलता श्रीजी म सा आदि का सन् 2018 का चातुर्मास परिवर्तन का आयोजन होगा जिसका लाभ त्रिस्तुतिक जैन संघ पाटण की आज्ञा से राजस्थान के जालोर जिले के भूति निवासी ओर वर्तमान में पाटण नगर में स्थित श्री स्व. नाजुदेवी जवानमलजी चन्द्रवाला परमार परिवार ने लिया, 23/11/2018, को चातुर्मास परिवर्तन प्रसंगे प्रातः 6.15 बजे पाटण के तांगडीया वाडा जिनालय स्थित सिद्धाचल पट्ट सन्मुख देववंदन, *प्रातः 7.00 बजे चातुर्मास परिवर्तन शोभायात्रा ( त्रिस्तुतिक उपाश्रय से प्रारंभ होकर नगर के राजमार्ग होकर आशीष सोसायटी में निर्मित पुण्यसम्राट प्रवचन मंडप संपन्न होगी, प्रातः 9.00 बजे मुनिराज श्री चारित्र रत्न विजय जी म.सा, मुनिराज श्री निपुणरत्न विजयजी म.सा एवं नगर में बिराजमान मुनिराज श्री ऋषभसागर जी म.सा ( आ. भ. श्री सागरानंद सूरि म. सा समुदाय), मुनिराज श्री भुवनवल्लभ विजय जी म.सा (आ. भ.  श्रीरामचंद्र सूरि म. सा समुदाय)  के प्रवचन होंगे, दोपहर 2.00 बजे आदिनाथ पंचकल्याणक पूजा, शाम 6.00 बजे प्रभु मिलन ( संध्या भक्ति) एवं रात्रि 8.00 बजे भक्ति  भावना के कार्यक्रम होंगे, शोभायात्रा के बाद के सभी कार्यक्रम आशीष सोसायटी में घनराजजी जवानमलजी ( भूतीवाला परिवार)  के निवास स्थान पर निर्मित पुण्य सम्राट प्रवचन मंडप में होंगे, आयोजक परिवार के श्री अलकेश भाई ( भूतिवाला परिवार)  ने बताया कि इस प्रसंग पर चातुर्मास हेतु पाटण नगर में विभिन्न समुदायों के 95 साधु साध्वी भगवंत बिराजमान है वो भी अनुकूलता अनुसार पघारेंगे, श्री संघ एवं परिषद् के राष्ट्रीय मिडिया प्रभारी ब्रजेश बोहरा ने बताया कि मुनि भगवंत चातुर्मास के बाद भी अध्यन हेतु पाटण नगर में ही बिराजमान रहेंगे।

About Manish Kumat

Check Also

झुकना ही विन्रमता की पहचान है-आचार्य श्री जयरत्न सूरीष्वरजी म. सा.

झुकना ही विन्रमता की पहचान है-आचार्य श्री जयरत्न सूरीष्वरजी म. सा मधुकर संदेश से झाबुआ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *