Wednesday , March 20 2019
Breaking News

दाहोद में त्रिवेणी महोत्सव के तीसरे दिन हुआ पुण्य सम्राट का पुण्योत्सव

दाहोद  / (ब्रजेश बोहरा) – पुण्य सम्राट गुरूदेव श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वरजी म .सा के पट्टधर गच्छाधिपती श्रीमद् विजय नित्यसेन सूरीश्वरजी म सा एवं श्रमण भगवंतो की पावन निश्रा में गुजरात के दाहोद नगर में भव्य त्रिवेणी महोत्सव संपन्न हुआ अनुमोदनीय हे के इस कार्यक्रम का आयोजन त्रिस्तुतिक जैन संघ दाहोद ओर समस्त श्री जैन संघ दाहोद द्वारा हुआ , दाहोद जैन संघ की एकता ने इस महोत्सव को अविस्मरणीय बनाया, गुरू सप्तमी सहित विभिन्न आयोजन के त्रिदिवसीय कार्यक्रम के त्रिवेणी महोत्सव के तीसरे दिन पुण्य सम्राट गुरूदेव श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वरजी म.सा का पुण्योत्सव का भव्य आयोजन दाहोद श्रीसंघ द्वारा हुआ, पुण्य सम्राट गुरूदेव की शासन प्रभावना के कार्यों के साथ गुणानुवाद सभा हुई जिसमें गच्छाधिपती श्री एवं श्रमण भगवंत ओर गुरू भक्तो ने गुरू गुणो का वर्णन किया, इस प्रसंग पर विदेश से पधारे पुण्य सम्राट गुरूदेव के गुरू भक्तो में से तुलसी बहन से गुरू महिमा पर भाव व्यक्त किये, श्री संघ दाहोद की ओर से विदेश के गुरू भक्तो का एवं उनको विभिन्न तीर्थ की यात्रा कराने वाले श्री शैलेषभाई देशाई का बहुमान किया गया, गुणानुवाद सभा में मुनिराज श्री निपुण रत्न विजय जी म.सा की संसारी मातुश्री चंदनबेन ने पुण्य सम्राट गुरूदेव के जीवन प्रसंग पर वर्णन किया तब सभा मे उपस्थित लोग भाव विमोर हो गये, संगीत के स्वरों से गुरू भक्तीमय वातावरण मन मधुकर ग्रुप के राजुभाई नागदा एवं उत्सव देशाई ने बनाया, पुण्योत्सव के दिन सुबह की नवकारसी एवं सुबह का स्वामिवात्सल्य ओर पुण्य सम्राट गुरूदेव के पुजन का लाभ मुनिराज श्री निपुण रत्न विजय जी के संसारी परिवार मातुश्री चंदनबेन सोहनलालजी श्री श्रीमाल परिवार दाहोद ने लिया, श्री संघ एवं परिषद के राष्ट्रीय मिडिया प्रभारी ब्रजेश बोहरा ने बताया कि गच्छाधिपती श्री ने त्रिवेणी महोत्सव में निश्रा प्रदान कर आज लीमडी नगर की ओर विहार किया कल लीमडी नगर में भव्य प्रवेश होगा ।

About Swastik Jain

Check Also

अहमदाबाद के अमराईवाडी में प्रतिष्ठा महोत्सव सहआनन्द संपन्न

अहमदाबाद / (ब्रजेश बोहरा) – गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर में स्थित अमराईवाडी नगर में भव्य …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *