Sunday , August 25 2019
Breaking News
Home / चातुर्मास / रिंगनोद में कल से नमस्कार महामंत्र की आराधना प्रारंभ होगी

रिंगनोद में कल से नमस्कार महामंत्र की आराधना प्रारंभ होगी

रिंगनोद / (सारस जैन) – पुण्यसम्राट आचार्य जयंतसेन सूरिश्वर महाराजा के पट्टधर गच्छाधिपति आचार्य देव श्री नित्यसेन सूरीश्वरजी म सा व आचार्य श्री जयरत्न सूरीश्वरजी महाराज साहब की आज्ञानुर्वतनी साध्वीश्री शशीकला श्रीजी महाराज साहब की सुशिष्या साध्वीश्री दर्शित कलाश्री जी महाराज साहब चिंतनकला श्रीजी महाराज साहब की निश्रा में तप आराधना की झड़ी लग रही है ,यहां पर आज शंखेश्वर तले एवं सिद्धितप के तपस्वी के पारणे का लाभ शालीभद्र शोभागमल झंडावाला परिवार ने लिया! रविवार को यहां पर नमस्कार महामंत्र की आराधना प्रारंभ होगी इसके लिए भगवान की चलित स्थापना का लाभ हुक्मीचंद अशोक कुमार धोखा परिवार, नमस्कार महामंत्र का फोटो विराजित करने का लाभ कमलचंद चांदमल इमलीवाला परिवार, गुरुदेव श्रीराजेन्द्रसुरिश्वर जी की चलित मूर्ति स्थापित का करने का लाभ केसरीमलजी मेहता परिवार , पुण्य सम्राट जयंतसेन सूरीश्वरजी महाराज साहब की चलित प्रतिमा विराजित करने का लाभ चिराग कुमार मानमल भंसाली परिवार, एवं अखंड ज्योत प्रज्वलित करने का लाभ शांतिलाल डांगी परिवार द्वारा लिया गया !इस अवसर पर साध्वी श्री दर्शित कलाश्री जी ने कहां की दान सदा गुप्त होता है तभी उसके महत्व का लाभ मिलता है चाहे वह सुपात्र दान हो, अभय दान हो ,विद्यादान हो या और प्रकार का दान, दान में दिखावा नहीं होता है !चातुर्मास काल में महत्व इस बात का है कि कितनी तप आराधना हुई ,कितने लोगों ने ज्ञानार्जन किया, बच्चों को धर्म संस्कार नहीं देने पर जब वह बड़े होते हैं तब उन्हें पछतावा होता है कि हमने कुछ नहीं सीखा! कभी भी गुरुवचन पर शंका नहीं करना चाहिए और ज्ञान की आशातना से बचना चाहिए जिससे हमारा ज्ञानार्वणी कर्म के बंधन टूटते हैं !भक्ताम्बर प्रभावना महिला परिषद रिंगनोद,प्रवचन प्रभावना सेवन्तीलाल मथुरालाल मोदी परिवार राजगढ़ आयंम्बिल लड़ी में श्री शैतानमलजी बाढीयां ने लाभ लिया! नमस्कार महामंत्र में बैठने वाले सभी आराधकों की धारणा आज है ।

About Swastik Jain

Check Also

सम्पूर्ण विश्व मे प्रभावशाली है भावना – गच्छाधिपति श्री

पिपलौदा / (प्रफुल जैन) – पावनिय चातुर्मास महोत्सव के दौरान श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ धाम पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *